Sat

07

Jun

2014

सीरिया का चुनाव और जनता की भरपूर उपस्थिति, ऐतिहासिक है

हिंदी (Hindi)

हिज़्बुल्लाह के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि सीरिया काराष्ट्रपति चुनाव और चुनावों में जनता की भरपूर उपस्थिति, महत्त्वपूर्णसफलता है क्योंकि सीरिया संकट के आरंभ से ही बहुत सी सरकारों ने इस विफलबनान का प्रयास किया था।

अल आलम टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार सैयद हसन नसरुल्लाह ने शुक्रवारको बैरूत में हिज़्बुल्लाह की केन्द्रीय परिषद के सदस्य शैख़ मुस्तफ़ाक़सीर आमेली की याद में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि हिज़्बुल्लाहसीरिया में मौजूद है ताकि क्षेत्र के विरुद्ध रचे गये षड्यंत्र का मुक़ाबलाकरे और उसे विफल बनाए।

उन्होंने एक बार फिर बल देकर कहा कि हिज़्बुल्लाह, शत्रुओं के मुक़ाबलेके लिए सीमाओं पर भी डटा हुआ है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने सीरिया में भव्यचुनाव के आयोजन को सीरियाई सरकार और राष्ट्र के लिए एक ज़बरदस्त सफलताबताया और कहा कि सीरिया के विरुद्ध पश्चिम की धमकियां विफल हो चुकी हैं।

उन्होंने लेबनान की स्थिति की ओर संकेत करते हुए कहा कि लेबनानी राष्ट्रशांति और सुरक्षा को सुदृढ़ करने पर बल देता है और उस पर कटिबद्ध भी है।उन्होंने लेबनान के नये राष्ट्रपति के चयन के लिए लेबनानी गुटों केप्रयासों पर बल देते हुए कहा कि लेबनानियों को लेबनान की समस्या के समाधानके लिए कुछ विदेशी पक्षों के समझौते की प्रतीक्षा नहीं करनी चाहिए।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने लेबनान में चुनौतियों और राजनैतिक मतभेद केसमाधान पर बल देते हुए कहा कि क़बाईली मतभेद को दूर करना ही लेबनान कीशांति और सुरक्षा का एकमात्र मार्ग है।

 

http://hindi.irib.ir/%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%B0

Read More 0 Comments

Mon

26

May

2014

सीरिया में आतंकवादियों को भेजना पश्चिम के लिए आत्मघातीः नसरुल्लाह

14- हिंदी (Hindi)

लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने अमरीका और उसके घटकों को सीरिया में आतंकवादियों को भेजने का ज़िम्मेदार बताया है कि इसका लक्ष्य सीरिया को तबाह और उसके प्रतिरोध को ख़त्म करना है।

सय्यद हसन नसरुल्लाह ने रविवार को टेलीविजन पर प्रसारित भाषण में कहा कि अमरीका और पश्चिमी देश सीरिया में तकफ़ीरियों और आतंकवादियों को भेज रहे हैं ताकि क्षेत्र में प्रतिरोध के ध्रुव को ख़त्म कर दें।

उन्होंने कहा कि सीरिया के ख़िलाफ़ षड्यंत्र की विफलता शुरु हो गयी है और यह अरब देश विदेश समर्थित आतंकवादियों के ख़िलाफ़ अंततः विजयी होगा।

सय्यद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि सीरिया के ख़िलाफ़ षड्यंत्र पश्चिम को बैकफ़ायर कर रहा है क्योंकि अब मिलिटेंट्स योरोप सहित उन देशों में वापस लौट रहे हैं जहां से वे आए हैं।

ज़्बुल्लाह के महासचिव का यह बयान ऐसे समय आया है जब सीरियाई सेना देश के नगरों व क़स्बों से विदेश समर्थित आतंकवादियों को खदेड़ने के अभियान को आगे बढ़ा रही है।

पश्चिमी देश और क़तर, सउदी अरब तथा तुर्की जैसे उनके क्षेत्रीय घटक देश सीरिया में आतंकवादियों का समर्थन कर रहे हैं।

http://hindi.irib.ir/%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%B0

Read More 0 Comments

Sun

30

Mar

2014

सीरिया में चरमपंथियों की कामयाबी से सारे लेबनानियों का सफ़ाया हो जाता

16-हिंदी (Hindi)

लेबनान के जनप्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव सय्यद हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि यदि प्रतिरोध के जवान सीरिया युद्ध में शामिल न होते तो तकफ़ीरी मिलिटेंट्स सारे लेबनानियों का सफ़ाया कर देते।

सय्यद हसन नसरुल्लाह ने शनिवार को टेलीविजन पर अपने भाषण में कहा, “यदि तकफ़ीरी आतंकवादी सीरिया में विजयी हो जाते तो केवल पार्टी या प्रतिरोध नहीं बल्कि हम सब का सफ़ाया हो जाता।” उन्होंने कहा कि हिज़्बुल्लाह डेढ़ साल पहले सीरिया युद्ध में तब शामिल हुआ जब चरमपंथी मिलिटेंट्स पैग़म्बरे इस्लाम की नवासी हज़रत ज़ैनब के रौज़े से कुछ मीटर दूर थे।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि हज़रत ज़ैनब के रौज़े पर पूरे विश्व के शीया और सुन्नी संप्रदाय के लोग श्रद्धा-सुमन अर्पित करते हैं। उन्होंने बताया कि जब सीरिया में युद्ध शुरु हुआ तो हिज़्बुल्लाह ने गतिरोध को ख़त्म करने के लिए राजनैतिक वार्ता का समर्थन किया किन्तु ऐसा इसलिए नहीं हो पाया क्योंकि अरब लीग ने सैन्य विकल्प को प्राथमिकता दी।

हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने कहा कि सीरियाई सरकार को गिराने के लिए कुछ अरब देशों ने आतंकवादियों की पैसों और हथियारों से मदद की किन्तु तीन वर्षों के बाद अरब लीग के कुछ सदस्य देश इस डर से कि सीरिया में युद्ध की समाप्ति के बाद ये मिलिटेंट्स इन देशों का विनाश कर देंगे, कुछ मिलिटेंट्स को ब्लैक लिस्ट में डाल रहे हैं । (MAQ/N)

http://hindi.irib.ir/%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%B0/%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%B0/item/58827-%E0%A4%B8%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%9A%E0%A4%B0%E0%A4%AE%E0%A4%AA%E0%A4%82%E0%A4%A5%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%AC%E0%A5%80-%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%87-%E0%A4%B2%E0%A5%87%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B8%E0%A4%AB%E0%A4%BC%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%8B-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A4%E0%A4%BE

Read More 0 Comments

Tue

18

Feb

2014

सऊदी अरब तकफ़ीरी आतंकवादियो को सशस्त्र कर रहा है

22- हिंदी (Hindi)

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोधी आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव सैय्यद हसन नसरुल्लाह का कहना है कि सऊदी अरब मध्यपूर्व में तकफ़ीरी आतंकवादियों को सशस्त्र करने के लिए वित्तीय सहायता कर रहा है।

इस्लामी प्रतिरोधी आंदोलन के प्रमुख ने शहीद दिवस के अवसर पर रविवार को रात देर गए एक कार्यक्रम को वीडियो कांफ़्रेसिंग के ज़रिए संबोधित करते हुए कहा कि सऊदी समर्थक तकफ़ीरी गुट साम्प्रदायिकता के बीज बो रहे हैं।

उन्होंने कहा तफ़रीरी समझते हैं कि केवल वे सच्चे मुसलमान हैं और बाक़ी सब मुसलमान नास्तिक हैं।

इस्लामी प्रतिरोधी आंदोलन के शहीद कमांडरों की याद में आयोजित किए गए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए हिज़्बुल्लाह प्रमुख ने कहा कि अल-क़ायदा से संबंधित अन्नुसरा फ़्रंट एवं इस्लामिक स्टेट ऑफ़ इराक़ एंड दी लिवैंट जैसे चरमपंथी गुट सऊदी तकफ़ीरी दृष्टिकोण का बेहतरीन उदाहरण हैं।

उन्होंने उल्लेख किया कि सऊदी अधिकारी सीरिया में सरकार के ख़िलाफ़ लड़ने के लिए युवाओं को भर्ती करने का अभियान चला रहे हैं।

सीरिया में किसी भी विदेशी हस्तक्षेप के प्रति चेतावनी देते हुए हसन नसरुल्लाह ने कहा कि सीरियाई जनता को अपने भविष्य के निर्धारण का अधिकार होना चाहिए। S.M

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/56590-%E0%A4%B8%E0%A4%8A%E0%A4%A6%E0%A5%80-%E0%A4%85%E0%A4%B0%E0%A4%AC-%E0%A4%A4%E0%A4%95%E0%A4%AB%E0%A4%BC%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%86%E0%A4%A4%E0%A4%82%E0%A4%95%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A5%8B-%E0%A4%95%E0%A5%8B-%E0%A4%B8%E0%A4%B6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%B0%E0%A4%B9%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%88

Read More 0 Comments

Sat

21

Dec

2013

हिज़बुल्लाह प्रतिरोध की क़ीमत चुका रहा है

15हिंदी (Hindi)

 

हिज़बुल्लाह लेबनान के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि ज़ायोनी शासन के षड्यंत्र, हिज़बुल्लाह संगठन का मुख्य मुद्दा है।

 

उन्होंने शुक्रवार को हिज़बुल्लाह के वरिष्ठ कमान्डर हस्सान अलक़ीस के संबंध में आयोजित एक कार्यक्रम कहा कि हस्सान अलक़ीस की हत्या, प्रतिरोध की पूर्व की सफलताओं से प्रतिशोध लेने और प्रतिरोध के मुख्य आधारों को हानि पहुंचाने के लिए की गयी है।

 

उन्होंने कहा कि हस्सान अलक़ीस की शहादत से हिज़बुल्लाह ने एक बार फिर प्रतिरोध पर प्रतिबद्धता की क़ीमत चुकाई है और हमारे जवान इस बात का प्रयास कर रहे हैं ताकि प्रतिरोध, ज़ायोनी शासन से टकराव के लिए बेहतरीन स्थिति में रहे क्योंकि हिज़बुल्लाह का मुख्य मुद्दा ज़ायोनी शासन है।

 

हिज़बुल्लाह के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने लेबनान के आंतरिक मतभेदों के बारे में कहा कि हिज़बुल्लाह के विरुद्ध युद्ध का सरकार से कोई लेना देना नहीं है और न ही चुनाव क़ानून पर पाये जाने वाले मतभेद इसके मुख्य कारण है बल्कि इन सबसे बढ़कर मुख्य मामला प्रतिरोध को समाप्त करना है।

 

सैयद हसन नसरुल्लाह ने इसी प्रकार देश के सुरक्षा बलों पर हुए हालिया आक्रमणों के बारे में कहा कि हालिया दिनों में सुरक्षा बलों पर आक्रमण में तेज़ी आई है जबकि सेना पर आक्रमण ख़तरनाक है और यह सेना के कमज़ोर होने का कारण बनेगा, सभी को सेना का समर्थन करना चाहिए क्योंकि यही वह संस्था है जिस पर सब सहमत हैं।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/item/53507-%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%BC%E0%A4%AC%E0%A5%81%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B9-%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%A4%E0%A4%BF%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%A7-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A4%BC%E0%A5%80%E0%A4%AE%E0%A4%A4-%E0%A4%9A%E0%A5%81%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B0%E0%A4%B9%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%88

 

Read More 0 Comments

Wed

04

Dec

2013

परमाणु समझौते का लाभ पूरे क्षेत्र की जनता को पहुंचा

19- हिंदी (Hindi)

हिज़्बुल्लाह लेबनान के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि ईरान और विश्व शक्तियों के बीच होने वाले परमाणु समझौते का सबसे अधिक लाभ क्षेत्र की जनता को पहुंचा है क्योंकि इस समझौते से क्षैत्र पर बहुत महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा।

हिज़्बुल्लाह के प्रमुख ने मंगलवार की शाम ओ टीवी को साक्षात्कार देते हुए ईरान के परमाणु समझौते के बारे में कहा कि इससे युद्ध का विकल्प बहुत दूर हो गया है और मैं जब युद्ध की बात करता हूं तो उससे तात्पर्य पश्चिमी युद्ध, अमरीकी युद्ध और इस्राईली युद्ध है अतः इस समझौते का सबसे अधिक लाभ क्षेत्र की जनता के लिए है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने इस समझौते ने विश्व में बहुध्रुवीय व्यवस्था व्यवस्था को प्रमाणित किया है और यह साबित हुआ है कि इस समय विश्व में केवल एक सुपर पावर या दो सुपर पावर नहीं हैं। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि क्षेत्र की कुछ सरकारें बहुत दिनों से ईरान के विरुद्ध युद्ध आरंभ करवाने का प्रयास कर रही थीं और यदि युद्ध होता तो पूरे क्षेत्र पर इसके विनाशकारी प्रभाव पड़ते क्योंकि ईरान कमज़ोर देश नहीं है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि ईरान ने प्रतिबंधों का डटकर मुक़ाबला किया और अमेरिका ईरान की शासन व्यवस्था को गिराने मे विफल हो गया जबकि यूरोप और अमरीका में आज़ कुछ नए तथ्य सामने हैं और यह देश किसी भी यद्ध में पड़ना नहीं चाहते। हिज़्बुल्लाह के प्रमुख ने कहा कि इस्राईल के बारे में ईरान की रणनीति में कोई परिवर्तन नहीं आया है।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/item/52575-%E0%A4%AA%E0%A4%B0%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%A3%E0%A5%81-%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%9D%E0%A5%8C%E0%A4%A4%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%AD-%E0%A4%AA%E0%A5%82%E0%A4%B0%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B7%E0%A5%87%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A4%A4%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A5%8B-%E0%A4%AA%E0%A4%B9%E0%A5%81%E0%A4%82%E0%A4%9A%E0%A4%BE

Read More 0 Comments

Sat

16

Nov

2013

इस्राईल की नीतियां क्षेत्र के लिए गंभीर ख़तराः हसन नसरूल्लाह

13हिंदी (Hindi)

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन हिज़बुल्लाह के प्रमुख ने कहा है कि इस्राईल की युद्धोन्मादी नीतियां, क्षेत्र के लिए ख़तरनाक हैं।  सैयद हसन नसरूल्लाह ने कहा कि ज़ायोनी शासन हर उस समझौते का विरोधी है जिससे क्षेत्र में शांति स्थापित होती हो।  उन्होंने बेरूत में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस्राईल की नीतियां विध्वंसकारी हैं और वह क्षेत्र को युद्ध की आगे में झोंकना चाहता है।  हसन नसरूल्लाह ने कहा किंतु इस्राईल अपने इस लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकेगा।  हिज़बुल्लाह के महासचिव ने लेबनान के आंतरिक मामलों में सऊदी अरब के हस्तक्षेप की निंदा करते हुए कहा कि यहां पर कोई भी गुट दूसरे गुट को समाप्त नहीं कर सकता।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/item/51454-%E0%A4%87%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%88%E0%A4%B2-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%A8%E0%A5%80%E0%A4%A4%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B7%E0%A5%87%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B2%E0%A4%BF%E0%A4%8F-%E0%A4%97%E0%A4%82%E0%A4%AD%E0%A5%80%E0%A4%B0-%E0%A4%96%E0%A4%BC%E0%A4%A4%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%83-%E0%A4%B9%E0%A4%B8%E0%A4%A8-%E0%A4%A8%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B9

Read More 0 Comments

Wed

13

Nov

2013

इस्राईल की नीतियां क्षेत्र के लिए गंभीर ख़तराः हसन नसरूल्लाह

15हिंदी (Hindi)

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन हिज़बुल्लाह के प्रमुख ने कहा है कि इस्राईल की युद्धोन्मादी नीतियां, क्षेत्र के लिए ख़तरनाक हैं।  सैयद हसन नसरूल्लाह ने कहा कि ज़ायोनी शासन हर उस समझौते का विरोधी है जिससे क्षेत्र में शांति स्थापित होती हो।  उन्होंने बेरूत में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस्राईल की नीतियां विध्वंसकारी हैं और वह क्षेत्र को युद्ध की आगे में झोंकना चाहता है।  हसन नसरूल्लाह ने कहा किंतु इस्राईल अपने इस लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकेगा।  हिज़बुल्लाह के महासचिव ने लेबनान के आंतरिक मामलों में सऊदी अरब के हस्तक्षेप की निंदा करते हुए कहा कि यहां पर कोई भी गुट दूसरे गुट को समाप्त नहीं कर सकता।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/51440-%E0%A4%87%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%88%E0%A4%B2-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%A8%E0%A5%80%E0%A4%A4%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B7%E0%A5%87%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B2%E0%A4%BF%E0%A4%8F-%E0%A4%97%E0%A4%82%E0%A4%AD%E0%A5%80%E0%A4%B0-%E0%A4%96%E0%A4%BC%E0%A4%A4%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%83-%E0%A4%B9%E0%A4%B8%E0%A4%A8-%E0%A4%A8%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B9

Read More 0 Comments

Wed

30

Oct

2013

सऊदी अरब अपने लक्ष्य प्राप्त न कर पाने के कारण क्रोधित

18हिंदी (Hindi)

हिज़्बुल्लाह लेबनान के प्रमुख सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि सऊदी अरब सीरिया में अपने लक्ष्य प्राप्त न कर पाने के कारण क्रोधित है।

लेबनान में रसूलुल आज़म अस्पताल की स्थापना को 25 वर्ष पूरे होने वाले आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि जो मोर्चा सीरिया में सरकार गिराने का प्रयास कर रहा था उसने सब कुछ किया किंतु उसे सफलता नहीं मिली अतः अब वह बहुत क्रोधित है और हर राजनैतिक समाधान को हाईजैक कर लेने का प्रयास कर रहा है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि हालिया महीनों के दौरान सीरिया, क्षेत्र और विश्व में बहुत महत्वपूर्ण परिवर्तन हुए हैं और विश्व अब इस निष्कर्ष पर पहुंच गया है कि सीरिया संकट का सामरिक मार्गों से समाधान नहीं हो सकता बल्कि इसका केवल  राजनैतिक हल है और इस समाधान तक पहुंचने का मार्ग बिना शर्त वार्ता है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि सीरिया में चरमपंथी संगठन जेनेवा सम्मेलन से पहले शक्ति का संतुलन अपने पक्ष में मोड़ने के प्रयासों में विफल रहे और विरोधी संगठन अंतर्राष्ट्रीय दबाव के बावजूद अपने भीतर एकता नहीं बना पाया। हिज़्बुल्लाह लेबनान के महासचिव ने कहा कि ज़मीन पर सारे परिवर्तन सीरिया की सेना और उसकी सहायता करने वाले स्वयंसेवी संगठनों के पक्ष में हैं।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/50545-%E0%A4%B8%E0%A4%8A%E0%A4%A6%E0%A5%80-%E0%A4%85%E0%A4%B0%E0%A4%AC-%E0%A4%85%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%B2%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B7%E0%A5%8D%E0%A4%AF-%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%A4-%E0%A4%A8-%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%AA%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A3-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%A7%E0%A4%BF%E0%A4%A4

Read More 0 Comments

Tue

24

Sep

2013

रासायनिक शस्त्र दाल आटा नहीं जो इधर से उधर कर दिया जाए

16- हिंदी (Hindi)

लेबनान के हिज़्बुल्लाह आंदोलन के महासचिव सैयद हसन नस्रुल्लाह ने  अमरीका और सीरियाई विद्रोहियों के इन आरोपों का का खंडन करते हुए कि सीरिया के रासायनिक हथियार , हिज़्बुल्लाह लेबनान के पास हैं,  इस तरह के दावे को हास्यास्पद कहा है।

सैयद हसन नस्रुल्लाह ने सोमवार की शाम टीवी पर अपने भाषण में कहा कि लेबनान का हिज़्बुल्लाह आंदोलन , रासायनिक हथियारों के बारे में धार्मिक नियमों और शिक्षाओं पर प्रतिबद्ध है और सीरिया के रासायनिक शस्त्रों को हिज़्बुल्लाह के पास रखने का आरोप हास्यस्पद और निराधार है मानो रासायनिक शस्त्रों को इधर उधर ले जाना, दाल आटे को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाना है।

 उन्होंने लेबनान के हिज़्बुल्लाह आंदोलन  की वायरलैस सेवा की ओर इशारा करते हुए कहा कि लेबनान के  हिज़्बुल्ला आंदोलन का वायरलेस सिस्टम अन्य लोगों की बातचीत सुनने के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता।

उन्होंने सीरिया पर हमले के खतरनाक परिणामों की ओर इशारा करते हुए कहा कि सीरिया पर हमले से  सबसे पहले प्रभावित होने वाला देश लेबनान होगा। उन्होंने कहा कि सीरिया में तकफीरी गुटों की उपस्थिति , लेबनानी जनता , अन्य देशों और राष्ट्रों के लिए खतरे का कारण है और इस क्षेत्र के कुछ मित्र देशों ने दो साल पहले अंकारा को सीरिया में सशस्त्र आतंकवादियों की ओर से पैदा होने वाले खतरों के बारे में अवगत  कर दिया था। उन्होंने सऊदी अरब और तुर्की की सरकारों को संबोधित करते हुए कहा कि वह सीरिया  के बारे में अपने रुख पर पुनर्विचार करें।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/48612-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%95-%E0%A4%B6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0-%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%B2-%E0%A4%86%E0%A4%9F%E0%A4%BE-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82-%E0%A4%9C%E0%A5%8B-%E0%A4%87%E0%A4%A7%E0%A4%B0-%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%89%E0%A4%A7%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%8F,-%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%BC%E0%A5%8D%E0%A4%AC%E0%A5%81%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B9

0 Comments

Sat

17

Aug

2013

बैरूत में विस्फोटों के मुख्य संदिग्ध तकफीरी गुट

15- हिंदी (Hindi)

लेबनान के हिज़्बुल्लाह आंदोलन के महासचिव ने कहा है कि बैरूत विस्फोट में मुख्य संदिग्ध तकफीरी गुट हैं किंतु जांच के मामले में जल्दबाज़ी नहीं की जाएगी।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने जूलाई २००६ में इस्राईली युद्ध में हिज़्बुल्लाह की विजय की वर्षगांठ के अवसर पर  शुक्रवार की शाम अपने एक भाषण में दक्षिणी लेबनान में गुरुवार को होने वाले भीषण विस्फोट के बारे में कहा कि सब से पहला विचार यह है कि इन विस्फोटों के पीछे इस्राईल का हाथ है जो सदैव हिज़्बुल्लाह के साथ युद्ध की दशा में रहता है।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/46338-%E0%A4%AC%E0%A5%88%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%A4-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AB%E0%A5%8B%E0%A4%9F%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A5%81%E0%A4%96%E0%A5%8D%E0%A4%AF-%E0%A4%B8%E0%A4%82%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%97%E0%A5%8D%E0%A4%A7-%E0%A4%A4%E0%A4%95%E0%A4%AB%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%97%E0%A5%81%E0%A4%9F

Read More 0 Comments

Sat

03

Aug

2013

ज़ायोनी शासन का विनाश क्षेत्रीय राष्ट्रों के हित

16- हिंदी (Hindi)

लेबनान के हिज़्बुल्लाह आंदोलन के महासचिव ने, ज़ायोनी शासन के विनाश को क्षेत्रीय राष्ट्रों के हित में बताया।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने शुक्रवार की शाम बैरूत में विश्व कुद्स  दिवस के अवसर पर अपने भाषण में बल दिया कि इस्राईल का विनाश केवल फिलिस्तीनियों ही नहीं बल्कि अरब जगत और लेबनान के हित में है।

उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय राष्ट्रों को फिलिस्तीन का समर्थन करना चाहिए । सैयद हसन नसरुल्लाह ने इस बात की ओर संकेत करते हुए कि विश्व और क्षेत्र में कुछ लोगों की इच्छा है कि फिलिस्तीन के विषय को भुला दिया जाए, स्पष्ट किया कि क्षेत्र की प्राथमिकता ज़ायोनी शत्रु से मुकाबला होना चाहिए और जो व्यक्ति या गुट इस्राईल के विरुद्ध संघर्ष करता है वह वास्तव में आत्मसम्मान व अपनी प्रतिष्ठा के लिए संघर्ष करता है।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27

Read More 0 Comments

Thu

25

Jul

2013

अमरीका और इस्राईल ने यूरोपीय संघ पर थोपा है निर्णय

21- हिंदी (Hindi)

लेबनान के प्रतिरोधी आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने संगठन की सैन्य शाख़ा को आतंकवादी गुटों की सूची में शामिल करने के यूरोपीय संघ के निर्णय की निंदा की है।

बुधवार को टीवी पर प्रसारण किए गए भाषण में सैय्यद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि यूरोपीय संघ ने इस्राईल और अमरीका के दबाव में यह कायरतापूर्ण निर्णय लिया है।

हसन नसरुल्लाह ने कहा कि संघ द्वारा यह निर्णय केवल इस्राईल के हितों की रक्षा के लिए लिया गया है तथा भविष्य में लेबनान पर ज़ायोनी शासन के किसी आक्रमण की स्थिति में यूरोपयी संघ को इस अतिग्रहणकारी के साथ खड़ा कर देगा।

हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने उल्लेख किया कि इन देशों को यह समझना होगा कि वे लेबनान पर हमले के लिए इस्राईल को क़ानूनी शरण प्रदान कर रहे हैं, इस लिए कि अब ज़ायोनी शासन यह दावा कर सकता है कि वह आतंकवादियों से लड़ रहा है और आतंकवादी ठिकानों को निशाना बना रहा है।

नसरुल्लाह ने कहा कि यद्यपि इस प्रकार के निर्णयों से प्रतिरोधी आंदोलन के लड़ाकों का मनोबल प्रभावित नहीं होता है। s.m

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/item/45329-%E0%A4%85%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%94%E0%A4%B0-%E0%A4%87%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%88%E0%A4%B2-%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%AF%E0%A5%82%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%AA%E0%A5%80%E0%A4%AF-%E0%A4%B8%E0%A4%82%E0%A4%98-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%A5%E0%A5%8B%E0%A4%AA%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%88-%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A3%E0%A4%AF

Read More 0 Comments

Sun

21

Jul

2013

इस्राईल को लेबनान पर अतिक्रमण की भारी क़ीमत चुकानी पड़ेगीः नसरुल्लाह

20- हिंदी (Hindi)

हिज़्बुल्लाह ने महासचिव ने कहा है कि इस्राईल को लेबनान पर अतिक्रमण की भारी क़ीमत चुकाना पड़ेगी।

लेबनान के जनप्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव सय्यद हसन नसरुल्लाह ने यह बात शुक्रवार की शाम बैरूत में हिज़्बुल्लाह की ओर से दी गयी इफ़्तार पार्टी को वीडियो कांफ़्रेंस के ज़रिये संबोधित करते हुए कही। सय्यद हसन नसरुल्लाह का कहना था कि आज के बाद से लेबनान पर हमला करने वालों को भारी क़ीमत चुकानी होगी। उन्होंने कहा कि इस्राईल को बैरूत पर हमले से पहले अलख़लील की फ़िक्र करनी चाहिए।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27

Read More 0 Comments

Sun

26

May

2013

क़ुसैर में विदेश समर्थित आतंकवादियों से लड़ना सहीः हिज़्बुल्लाह

16- हिंदी (Hindi)

हिज़्बुल्लाह के महासचिव सय्यद हसन नसरुल्लाह ने लेबनान की सीमा के निकट सीरिया के सीमावर्ती क़स्बे अलक़ुसैर में विदेश समर्थित आतंकवादियों से हिज़्बुल्लाह के लड़ने के निर्णय का समर्थन किया है।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/item/42960-%E0%A4%95%E0%A4%BC%E0%A5%81%E0%A4%B8%E0%A5%88%E0%A4%B0-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6-%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A5%E0%A4%BF%E0%A4%A4-%E0%A4%86%E0%A4%A4%E0%A4%82%E0%A4%95%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%B2%E0%A4%A1%E0%A4%BC%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%B8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%83-%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A4%BC%E0%A5%8D%E0%A4%AC%E0%A5%81%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B9

Read More 0 Comments

Fri

10

May

2013

अरब देशों के रूख लज्जाजनक

14- हिंदी (Hindi)

लेबनान के हिज्बुल्लाह आंदोलन के महासचिव सैयद हसन नस्रुल्लाह ने अपने एक भाषण में फिलिस्तीनी जनता के लिए ख़तरों का वर्णन करते हुए, फिलिस्तीनियों के अधिकारों की रक्षा में अरब देशों के रूख को लज्जाजनक बताया है।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/42300-%E0%A4%85%E0%A4%B0%E0%A4%AC-%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%96-%E0%A4%B2%E0%A4%9C%E0%A5%8D%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A4%95

Read More 0 Comments

Wed

01

May

2013

क्षेत्र की स्थिति पर सैयद हसन नसरुल्लाह का महत्वपूर्ण भाषण

7- हिंदी (Hindi)

हिज़्बुल्लाह लेबनान के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने ज़ायोनी शासन के प्रोपगंडे और सीरिया, लेबनान तथा इराक़ की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा है कि इस्राईल जिस ड्रोन विमान को मार गिराने का दावा कर रहा है वह हिज़्बुल्लाह ने नहीं भेजा था। उन्होंने सवाल किया कि कि इस्राईल ने अब तक इस ड्रोन विमान और उसे मार गिराए जाने की कोई विडियो क्लिप क्यों जारी नहीं की।

http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/item/41895-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B7%E0%A5%87%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%A5%E0%A4%BF%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%B8%E0%A5%88%E0%A4%AF%E0%A4%A6-%E0%A4%B9%E0%A4%B8%E0%A4%A8-%E0%A4%A8%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A5%81%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B9-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%AE%E0%A4%B9%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A4%AA%E0%A5%82%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A3-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A4%A3

Read More 3 Comments

Thu

28

Feb

2013

लेबनानी सीमा पर शीयों के गांवों पर विद्रोहियों का क़ब्ज़ा

हिंदी (Hindi)
लेबनानी सीमा पर शीयों के गांवों पर विद्रोहियों का क़ब्ज़ा   
लेबनान के जनप्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव सय्यद हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि सीरिया में विदेश समर्थित विद्रोही लेबनानी सीमा पर शीया बाहुल्य गांवों पर क़ब्ज़ा कर रहे हैं।
http://hindi.irib.ir/2010-06-06-08-13-27/2010-06-06-08-25-12/item/39443-%E0%A4%B2%E0%A5%87%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%80-%E0%A4%B8%E0%A5%80%E0%A4%AE%E0%A4%BE-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%B6%E0%A5%80%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%97%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%B5%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A4%BC%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%9C%E0%A4%BC%E0%A4%BE

0 Comments